Spread the love

मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के एक और पत्र से महाराष्ट्र की राजनीति में खलबली मच गई है. इस बार पत्र में उन्होंने महाराष्ट्र के मौजूदा डीजीपी संजय पांडे पर सवाल उठाए हैं. सीबीआई को भेजे पत्र में सिंह ने आरोप लगाया कि डीजीपी संजय पांडे उनसे कहा है कि अगर वो प्रदेश के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ अपनी शिकायत वापस ले लेते हैं तो उनके खिलाफ चल रही जांच को ‘रोका’ जा सकता है.

पत्र में परमबीर सिंह ने आरोप लगाया कि महाराष्ट्र में अधिकारियों द्वारा अनिल देशमुख के खिलाफ शुरू की गई जांच को विफल करने का दुर्भावनापूर्ण प्रयास किया जा रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि गवाहों के साथ छेड़छाड़ की जा रही है.

मालूम हो कि परमबीर सिंह का ये पत्र उनके पहले पत्र के करीब डेढ़ महीने बाद सामने आया है. अपना पहला उन्होंने सीएम उद्धव ठाकरे को लिखा था. इसमें उन्होंने अनिल देशमुख पर मुंबई पुलिस के अधिकारियों को जबरन वसूली के जरिए हर महीने 100 रुपए इकट्ठा करने के आदेश देने का आरोप लगाया था.

उन्होंने अनिल देशमुख के गृहमंत्री रहते दादर और नगर हवेली के सांसद मोहन डेलकर की मौत के संबंध में पुलिस जांच दखल देने का आरोप लगाया था. हालांकि अनिल देशमुख ने इन आरोपों को निराधार बताया था. उन्होंने दावा किया ये परमबीर सिंह कारोबारी मुकेश अंबानी के घर के बाहर सुरक्षा चूक से जुड़ी कार्रवाई से बचने की कोशिश थी. मालूम हो 25 फरवरी को मुंकेश अंबानी के मुंबई स्थित निवास स्थान एंटीलिया के पास विस्फोटक पदार्थ मिला था.

परमवीर सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों के आधार पर बॉम्बे हाईकोर्ट ने उनके खिलाफ प्रारंभिक सीबीआई जांच का आदेश दिए जाने के बाद अनिल देशमुख ने गृह मंत्री के रूप में पद छोड़ दिया। इधर परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए गंभीर आरोपों के बाद बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस संबंध में संज्ञान लिया और मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिए. इसके कुछ बाद अनिल देशमुख ने महाराष्ट्र के गृहमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Open chat